October 7, 2022

चिंताजनक : हल्द्वानी में बढ़ती जा रही एड्स मरीजो की संख्या

हल्द्वानी ( आखरीआंख समाचार )  नशा हर तरह से मनुष्य के लएि खतरनाक है। पैसे, समय, शरीर के साथ ही अपराध का जन्मदाता तो है ही साथ ही यह तरह तरह के बीमारियों की भी जड़ है। केंद्र सरकार की तमाम योजनाओं के बावजूद एचआइवी रोगियों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। असुरक्षित यौन संबंध व संक्रमित रक्त चढ़ाने के अलावा इंजेक्शन से नशा करने वालों में एचआइवी खतरनाक स्थिति में पहुंच गया है। हल्द्वानी व आसपास क्षेत्रों में ही 385 मरीज पंजीकृत हो चुके हैं। इनकी उम्र 18 से 35 वर्ष है। यह संख्या बढने की गति 27 फीसद है। हकीकत यह है कि प्रतिवर्ष एचआइवी कंट्रोल के लिए ढाई करोड़ रुपये गैर सरकारी संगठनों की मदद से खर्च किए जाते हैं। धरोहर संस्था के सर्वे में कई चैंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है। स्लम एरिया में मरीजों की संख्या अधिक रू धरोहर विकास संस्था केंद्र सरकार की लक्ष्यगत हस्तक्षेप योजना पर काम कर रही है। इस संस्था को हल्द्वानी में ही ड्रग एब्यूजर यानी सुई के माध्यम से नशा करने वाले 300 लोगों को खोजने का लक्ष्य दिया गया था, जो इस वजह से एचआइवी से ग्रस्त हो गए हैं। संस्था का यह लक्ष्य पूरा हो गया। इसके बाद लालकुआं क्षेत्र में 100 ऐसे लोगों का लक्ष्य मिला, इसमें से भी एचआइवी से ग्रस्त 84 मरीज पंजीकृत हो चुके हैं।