October 7, 2022

फूड पॉयजनिंग अपडेट : डीएम ने दुल्हन के घर जाकर पीड़ितों से की मुलाकात, सीएमओ को दिए कड़े निर्देश

बागेश्वर ( आखरीआंख समाचार )  विकास खण्ड कपकोट के बास्ती गांव में विवाह समारोह की दावत खाने के पश्चात बीमार हुए लोंगो को उच्चस्तरीय र्इलाज के लिए व उनकी स्वास्थ्य संबन्धी जानकारियों के लिए जिलाधिकारी रंजना राजगुरू ने विगत दिवस देर रात्रि 01.00 बजे तेलंगाना राज्य से बागेश्वर पहुंचकर जिला चिकित्सालय बागेश्वर में भर्ती मरीजों का हाल-चाल जाना। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी व चिकित्सा अधीक्षक को कडे निर्देश जारी करते हुए कहा कि जनपद के सभी चिकित्सालयों में भर्ती मरीजो का उपचार पूर्ण मनोयोग से साथ करें। सभी चिकित्सालयों में पर्याप्त दवाओं की उपलब्धता बनी रहे। इसका विशेष ध्यान रखा जाय तथा समय-समय पर मरीजो की स्वास्थ संम्बन्धी जानकारी के बारे में अवगत कराने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी रंजना राजगुरू ने आज प्रात: 05.45 बजे स्वास्थ्य केन्द्र काण्डा पहुंचकर चिकित्सालय में भर्ती मरीजों का हाल -चाल जाना । उन्होने भर्ती मरीजो के वार्डो में जाकर बारी-बारी से उनके स्वास्थ्य सम्ंबन्धी जानकारी प्राप्त की। एक 05 वष्र्ाीय बालक सूरज निवासी ग्राम कलाटी पिथौरागढ का है जिसका ननीहाल बास्ती गांव में है जो आज प्रात: काण्डा चिकित्सालय में पहुंचा है इसके उपचार के लिए जिलाधिकारी ने बच्चें को एंबुलेंस से जिला चिकित्सालय बागेश्वर के लिए रेफर कर बागेश्वर में उपचार करने के निर्देश दियें। उन्होने निरीक्षण के दौरान भर्ती मरीजों को समय-समय पर चैकअप करने के साथ -साथ उन्हे फल आदि व शुद्ध भोजन परोसने के निर्देश दिये। उन्होने कार्यरत डॉक्टरों से कहा की भर्ती मरीजों का उपचार तत्परता के साथ करना सुनिश्चित करें इसमें किसी प्रकार लापरवाही न बरती जाय। किसी भी प्रकार की पेरशानी होने पर तत्तकाल कन्ट्रोल रूम में अवगत कराने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी रंजना राजगुरू ने काण्डा के चिकित्सालय के निरीक्षण के पश्चात बेरीनाग चिकित्सालय पहुंचे वहा पहुचकर उन्होने भर्ती मरीजों के प्रत्यके वार्ड में जाकर हाल-चाल जाना तथा उनके स्वास्थ के संबन्ध में चिकित्सको से जानकारी प्राप्त की। चिकित्सको को पूर्ण मनोयोग व तत्परता के साथ उपचार करने के निर्देश दिये। बेरीनाग चिकित्सालय में भर्ती 03 मरीजो के स्वास्थ में लाभ न होने पर उन्हे तत्काल प्रभाव से चांपर के माध्यम से सुशीला तिवारी चिकित्सालय हल्द्वानी उपचार के लिए भेजा गया। उन्होंने वहां पर कार्य कर रहे चिकित्सको से कहा कि यदि किसी भी मरीज के स्वास्थ लाभ हेतु चांपर की आवश्यकता हो तो तत्काल अवगत कराये ताकि उन्हें चांपर के माध्यम से चिकित्सालय मे ंभेजा जा सके। चिकित्सको ने बताया कि चिकित्सालय में भर्ती मरीजो की स्थिति सामान्य है जो मरीज ठीक हो रहे उन्हे डिस्चार्ज किया जा रहा है जिसमें जिलाधिकारी ने भर्ती मरीजो को ठंड से बचने के लिए गरम कपडें व वार्डो में हीटर लगाने के निर्देश दिये तथा उन्हे फल आदि भी समय-समय पर उपलब्ध कराते हुए निरन्तर चैकअप करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने तद्पश्चात विवाह समारोह में हुए इस घटना की जानकारी व मरीजों के बीमारी के कारणो का पता करने के लिए बास्ती गांव पहुंची जहां उन्होने बास्ती गांव निवासी दुल्हन के पिता मोहन ंिसह सहित ग्रामीणो से मुलाकात की। जहां ग्रामीणो ने बताया कि जिस तरह अन्य विवाह गांव में संम्पन्न होते है उसी तरह इस शादी समारोह का भी आयोजन किया गया था जिसमें खान-पान बनाने की व्यवस्था भी स्वंय ग्रामीणों के अन्य विवाहों की भांति की गर्इ थी जिसमें सभी घराती एवं बाराती के द्वारा भोजन किया गया लेकिन कुछ समय के बाद घराती एवं बारातियों का स्वाास्थ अचानक बिगडने लगा जिसकी सूचना दी गयी सूचना देने के उपरान्त ग्रामीणों ने बताया कि जिला प्रशासन के द्वारा स्वास्थ्य विभाग की टीम सहित जनपद के कर्इ अधिकारी व कर्मचारी मौके पर पहुचे उन्होंने ग्रामीणों का स्वास्थ्य की स्थिति ठीक न होने पर तत्काल बेरीनाग, काण्डा, कपकोट, बागेश्वर के चिकित्सालयों मे मरीजों को भर्ती कराया गया जिनका चिकित्सको के द्वारा पूर्ण मुस्तैदी के साथ उपचार किया गया बताया कि अब सभी चिकित्सालयों में भर्ती मरीजों की स्थिति सामान्य है। ग्राम बास्ती व सनगाड़ सहित अन्य गांवों के ग्रामीणों के द्वारा जिला प्रशासन के द्वारा की गयी इस कार्यवाही पर सराहना की। जिलाधिकारी रंजना राजगुरू ने दुल्हन के घर जाकर उनके पिता से मुलाकात की। और उन्हें धैर्य दिलाया कि सभी ग्रामीणों का स्वास्थ्य शीघ्र ही ठीक हो जायेगा किसी भी प्रकार की चिंता न करने को कहा उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन इस घटना पर पूरी नजर बनाये हुए हैं। इस घटना को देखते हुए समस्त मरीजो के परिजनों को आश्वासन दिया गया कि वे संयम बनाये रखे जिला प्रशासन के द्वारा हर संभव मदद की जा रही है। जनपद के विभिन्न चिकित्सालयों में मरीज की स्थिति निम्न प्रकार है जिला चिकित्सालय बागेश्वर मे आज 74 मरीज भर्ती हुए जिसमे 28 लोगो के ठीक होने पर डिस्चार्ज किया गया तथा 11 मरीज को रेफर किया गया अभी 35 मरीज भर्ती है। बेरीनाग चिकित्सालय मे 03 मरीजो को प्रात: चांपर के माध्यम से हल्द्वानी भेजा गया तथा 22 मरीजों को अल्मोडा के लिए भेजा गया है, तथा 21 मरीजो को बागेश्वर व 06 मरीजों को पिथौडागढ उपचार के लिए भेजा गया है 07 मरीज अभी भर्ती है। काण्डा में 42 मरीज भर्ती हुए जिसमें से 18 मरीजो के ठीक होने पर डिस्चार्ज कर दिया गया है 24 मरीज भर्ती जिनका उपचार किया जा रहा है। कपकोट चिकित्सालय के सभी मरीजों के ठीक होने पर डिस्जार्च कर दिया गया है।