July 7, 2022

कृषि को बढ़ावा देने हेतु उत्तराखंड में चकबंदी लागू की जाएगी: जोशी


विकासनगर। कृषि मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि प्रदेश सरकार कृषि को बढ़ावा देकर गांवों से पलायन रोकने पर गंभीरता से काम कर रही है। इसके लिए सरकार ने चकबंदी लागू करने का निर्णय लिया है। चकबंदी लागू करने के बाद मैदानी और पहाड़ी क्षेत्रों की जलवायु के अनुकूल फसलों के उत्पादन को बढ़ावा दिया जाएगा। बुधवार को सेलाकुई में सगंध पौधा केंद्र की ओर से आयोजित भंगजीरा का नगदी फसल कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे कृषि मंत्री गणेश जोशी ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कृषि मंत्री ने कहा कि पहाड़ी क्षेत्रों में कृषि को बढ़ावा देने के लिए चकबंदी लागू किया जाना जरूरी है। इसके लिए सरकार चरणबद्ध तरीके से काम कर रही है। इसके साथ ही किसानों की दी जाने वाली सब्सिडी भी बढ़ाई जाएगी। कहा कि प्रदेश के किसानों को हिमाचल प्रदेश की तर्ज पर सब्सिडी दी जाएगी। इससे करीब 32 करोड़ रुपये का भार बढ़ेगा। पहाड़ी क्षेत्रों में उद्यानिकी को बढ़ावा देने के लिए भी सरकार संकल्पित है। इसके लिए सबसे पहले उद्यान विभाग के उन 160 कर्मचारियों को पहाड़ी जिलों में भेजा जाएगा, जो लंबे समय से देहरादून में संबद्ध हैं। कहा कि बंजर जमीन को सगंध खेती माध्यम से हरा भरा करने के लिए सरकार काम कर रही है। इसके लिए सगंध पौधा केंद्र पहाड़ी क्षेत्र में पहाड़ी क्षेत्रों में होने वाले सगंध पौधों की नर्सरी तैयार कर रहा है। कृषि मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों की आय दोगुनी करने के हर संभव प्रयास कर रही है। केंद्र सरकार से मिलने वाली किसान सम्मान निधि में प्रदेश सरकार भी दो हजार रुपये का अतिरिक्त अंशदान देगी। उन्होंने कहा कि आने वाले पांच साल में प्रदेश के पर्वतीय जिलों को भी कृषि और बागवानी के क्षेत्र में उन्नत बनाया जाएगा। इस दौरान सहसपुर विधायक सहदेव पुंडीर, केदारनाथ की पूर्व विधायक आशा नौटियाल, सगंध पौधा केंद्र प्रभारी डा. नृपेंद्र चौहान, अपर सचिव प्रशांत अस्थाना, रामविलास यादव, भगत सिंह राठौर, अनिल नौटियाल, सुखदेव फर्सवाण आदि मौजूद रहे।