August 9, 2022

ज्ञानवापी में सर्वे पूरा, नंदी के पास मिले बाबा, मुस्लिम पक्ष का दावा- मस्जिद में नहीं मिला कोई शिवलिंग


नई दिल्ली । उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में ज्ञानवापी मस्जिद परिसर का सर्वे आज तीसरे दिन पूरा हो गया। वहीं सर्वे के बाद परिसर से बाहर निकले हिंदू पक्ष के वकील ने बड़ा दावा किया। हिंदू पक्ष के वकील विष्णु जैन ने बताया कि सर्वे के दौरान कुंए के अंदर शिवलिंग मिला है। जिसके बाद अब वह शिवलिंग की प्रोटेक्शन लेने सिविल कोर्ट जा रहे हैं। वहीं ज्ञानवापी मस्जिद मामले में याचिकाकर्ता सोहन लाल आर्य ने भी बाहर निकलकर कहा कि दावा किया कि कोर्ट कमीशन का सर्वे पूरा हो गया है। हमें निर्णायक सबूत मिले हैं। उन्होंने कहा कि अंदर नंदी के पास बाबा मिल गए हैं, जिन खोजा तिन पाइयां, मतलब जिसकी तलाश की जा रही थी, उससे कहीं अधिक मिला है। इतिहासकारों ने जो लिखा था, वह सही था। सोहन लाल आर्य ने बताया कि अब पश्चिमी दीवार के पास जो 15 फीट ऊंचा मलबा है, उसके सर्वे की मांग उठाएंगे।
वहीं ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे पूरा होने के बाद वाराणसी डीएम कौशलराज शर्मा ने कहा कि ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे आज सवा 10 बजे तक पूरा हो गया है। 17 मई को अदालत में जब तक कमीशन की रिपोर्ट पर कोर्ट का जवाब नहीं आ जाता तब तक कोई कार्रवाई नहीं होगी। सभी पक्षकार बड़े संतुष्ट होकर गए हैं। डीएम ने कहा कि 17 मई को सर्वे की रिपोर्ट पेश होने के बाद कोर्ट का फैसला आएगा। उन्होंने कहा कि किसी की निजी बात या राय पर किसी को कोई ध्यान देने की आवश्यकता नहीं है।
2 किमी के दायरे में फोर्स तैनात
वहीं सुरक्षा के मद्देनजर ज्ञानवापी मस्जिद के आसपास 2 किमी के दायरे में फोर्स तैनात की गई है। कोर्ट ने 17 मई को सर्वे की रिपोर्ट पेश करने का आदेश दिया है। सर्वे के दूसरे दिन टीम ने बताया था कि दोपहर 12 बजे तक लगभग 65 फीसदी काम पूरा कर लिया गया। ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे आज तीसरे दिन खत्म हो गया है। यह सर्वे कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच किया गया। पिछले हफ्ते ज्ञानवापी मस्जिद समिति की आपत्तियों के बीच सर्वेक्षण रोक दिया गया था। समिति ने कोर्ट की तरफ से नियुक्त एडवोकेट आयुक्त पर आपत्ति जताई थी। हालांकि कोर्ट ने मामले को खारिज करते हुए दोबारा सर्वे का आदेश दिया था।
वहीं वाराणसी पुलिस कमिश्नर ए सतीश गणेश ने बताया कि कोर्ट आयोग ने तीसरे दिन ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे किया है। उन्होंने बताया कि आज वैशाख पूर्णिमा पर काशी विश्वनाथ मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ को प्रबंधित करने के लिए पर्याप्त व्यवस्था की गई है। सर्वे को लेकर हमने व्यापक स्तर की सुरक्षा व्यवस्था दी थी, जिसके कई चरण थे। हम लोगों ने पक्षों के साथ लगातार बैठक की, क्योंकि यह कोर्ट का आदेश था जिसमें सभी के सहयोग की अपेक्षा थी। पुलिस कमिश्नर ने कहा कि शहर में हर थाना स्तर पर लोगों से संवाद करके लोगों के बीच जो भ्रांतियां थी उन्हें दूर किया गया। यह सर्वे तीन दिन की कार्रवाई थी, जो आज समाप्त हो गई है। सर्वे के दौरान कानून व्यवस्था की कोई भी स्थिति किसी भी तरीके से प्रभावित नहीं हुई।
आज सर्वे का तीसरा दिन
दरअसल रविवार को टीम ने बताया था कि ज्ञानवापी मस्जिद परिसर का दूसरे दिन का सर्वे-वीडियोग्राफी का काम पूरा हो गया है लेकिन यह सोमवार को भी जारी रहेगा। कोर्ट के आदेश के अनुसार, सर्वे का काम सुबह आठ बजे से दोपहर 12 बजे तक किया जाना है। लेकिन सर्वे टीम रविवार को लगभग डेढ़ बजे बाहर निकली थी। जिससे यह अंदाजा लगाया जा रहा था कि रविवार को सर्वे खत्म हो जाएगा लेकिन टीम ने आज फिर सर्वे करने की बात कही थी। टीम के सदस्यों ने बताया था कि सर्वे का काम कोर्ट के आदेश के अनुसार 12 बजे खत्म हो गया था। लेकिन बाकी समय काम समेटने और दस्तावेज बनाने में लगा।
शांतिपूर्ण ढंग से चल रहा सर्वे
विशेष अधिवक्ता आयुक्त विशाल सिंह ने कहा कि कोर्ट के आदेश पर सर्वेक्षण की कार्यवाही शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुई। सर्वे में किसी तरह की कोई बाधा नहीं आ रही। सर्वे की रिपोर्ट गोपनीय है और अभी इसे सार्वजनिक नहीं किया जा सकता। इससे पहले, सर्वे के लिए जाते समय विशाल सिंह ने कहा था कि मेरे साथ सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता राजेंद्र नाथ पांडेय भी सर्वे के दौरान मस्जिद परिसर में मौजूद रहेंगे। बाकी शनिवार वाली ही पूरी टीम रविवार को अंदर गई थी। उन्होंने कहा कि पूरी कोशिश होगी कि सर्वे समय पर पूरा कर लिया जाए और 17 मई को अदालत में रिपोर्ट पेश की जाए। वहीं, हिंदू पक्ष के अधिवक्ता मदन मोहन यादव ने बताया कि आज भी सर्वे का किया जाएगा।