April 21, 2024

एसटीएच में ओपीडी मरीजों को निशुल्क दवा मिलना शुरू


हल्द्वानी। डॉ. सुशीला तिवारी अस्पताल (एसटीएच)में ओपीडी मरीजों को निशुल्क दवाएं मिलनी शुरू हो गई हैं। पहले दिन करीब 667 मरीजों ने फार्मेसी से दवा ली। वहीं अस्पताल प्रबंधन ने फार्मेसी में दवाओं की संख्या बढ़ाने के लिए नए टेंडर भी किए हैं।
मंगलवार को प्राचार्य डॉ. अरुण जोशी, एसए डॉ. जीएस तितियाल व मेडिकल ऑफिसर इंचार्ज फार्मेसी डॉ. पंकज वर्मा का फार्मेसी में बुके देकर स्वागत के बाद ओपीडी मरीजों को निशुल्क दवा देने की शुरुआत की गई। पहले दिन अपराह्न 3 बजे तक करीब 667 मरीजों ने फार्मेसी से दवा ली जबकि ओपीडी में 1625 मरीजों पहुंचे थे। हालांकि कई ओपीडी मरीजों को अस्पताल से मुफ्त दवा मिलने की जानकारी नहीं थी जिस कारण ज्यादातर मरीज या तो जन औषधि केंद्र या फिर अस्पताल के बाहर से मेडिकल स्टोर से दवा खरीदते दिखे। फार्मेसी प्रभारी एलएम भट्ट ने बताया कि फार्मेसी से सुबह 9 बजे से अपराह्न 3 बजे तक मरीजों को दवा दी जाएगी।
50 प्रकार की दवा 100 से ज्यादा रखने का लक्ष्य
फार्मेसी में वर्तमान में विभिन्न रोगों की 50 से ज्यादा दवाएं रखी हुई हैं। जबकि की नई दवाओं के टेंडर किए जा चुके हैं। इन दवाओं के जल्द मिलने की उम्मीद है। अस्पताल प्रबंधन करीब 100 से ज्यादा प्रकार की दवाएं फार्मेसी में रखने की तैयारी में है।
12 प्रकार की है एंटीबायोटिक: ओपीडी की फार्मेसी में करीब 12 प्रकार की एंटीबायोटिक रखी हैं। यह एंटीबायोटिक अलग-अलग रोगों के इलाज में काम आती है। इसी तरह से ब्लड प्रेशर व शुगर की भी करीब 6-6 प्रकार की दवाएं फार्मेसी में रखी हुई हैं।
 आईपीडी मरीजों को अस्पताल की तरफ से दवाएं पहले से दी जा रही हैं। मंगलवार से ओपीडी मरीजों को भी निशुल्क दवा उपलब्ध कराना शुरू कर दिया गया है। हमारी कोशिश है कि सभी ओपीडी मरीजों को सभी जरूरी दवाएं निशुल्क उपलब्ध हों। -ड़ॉ. अरुण जोशी, प्राचार्य, राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी