July 24, 2024

जोशीमठ से पांडुकेश्वर के लिए रवाना हुआ गाड़ू घड़ा कलश –


चमोली। भगवान श्री बदरीनाथ जी के दैनिक लेप के तेल को जिस गाड़ू घड़ा कलश में रखा जाता है वह सोमवार को जोशीमठ नृसिंह बदरी मंदिर से पांडुकेश्वर योध्यान मंदिर के लिए रवाना हो गया है। सोमवार को जोशीमठ नृसिंह मंदिर में वैदिक पूजा अर्चना के बाद मंदिर के पुरोहितों ने गाड़ू घड़ा को डिमरी पंचायत के प्रतिनिधियों को सौंपा। सबसे पहले गाड़ू घड़ा को भगवान बदरीनाथ का खजाना जो शीतकाल में जोशीमठ में रहता है से गाड़ू घड़ा को बाहर निकाला गया, जिसके बाद भगवान नृसिह की वैदिक पूजा अर्चना संपन्न हुई। पूजा अर्चना की समाप्ती के बाद गाड़ू घड़ा को लेकर डिमरी पंचायत के लोग पांडुकेश्वर के लिए रवाना हुए। रात्री पांडुकेश्वर में विश्राम करने के बाद गाड़ू घड़ा बुधवार को पुनः नृसिंह मंदिर पहुंचेगा जिसके बाद यहां पर अन्य पूजा अर्चना के बाद गाड़ू घड़ा को टिहरी राजदरबार के लिए रवाना किया जायेगा। बता दें कि यह तेल कलश यानी गाड़ू घड़ा आगामी 5 फरवरी को राजदरबार में पहुंचेगा। व इसी दिन बसंत पंचमी के अवसर पर टिहरी नरेन्द्र नगर राज दरबार में बदरीनाथ के कपाट खुलने का मुहूर्त निकाला जायेगा। इस अवसर पर धर्माधिकारी भुवन उनियाल, संदीप कपरवांण, भगवती नंबूरी समेत डिमरी पंचायत के प्रतिनिधिगण आदि मौजूद रहे।