February 29, 2024

बटलर का तूफानी शतक, राजस्थान की दिल्ली पर रोमांचक जीत

हमें पता था कि धोनी आखिरी गेंद खेले तो वह निश्चित मैच जिता देंगे : जडेजा
मुंबई । चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान रवींद्र जाडेजा ने मुम्बई पर तीन विकेट से जीत दर्ज करने के बाद कहा, हम बहुत टेंशन में थे जैसे मैच जा रहा था लेकिन कहीं ना कहीं हम जानते थे कि बेहतरीन फीनिशर अभी वहां पर हैं और अगर वह आखिरी गेंद खेले तो वह निश्चित मैच जिता देंगे। धोनी ने दुनिया को दिखाया कि वह अभी भी यहां हैं और मैच खत्म कर सकते हैं।
धोनी के साथ बल्लेबाजी करने वाले ड्वेन प्रिटोरियस ने मैच के बाद कहा, शानदार अनुभव। वह मैच को खत्म करने में मास्टर हैं और उन्होंने एक बार दोबारा करके दिखाया। बुमराह पर बाउंड्री लगाने पर प्रिटोरियस ने कहा, मैं पहले ही ओवर में बुमराह के खिलाफ स्कूप लगाना चाहता था, लेकिन धोनी ने कहा, अभी रूको। मैंने इंतजार किया और अगले ओवर में मैंने कहा, अब मैं लगाने जा रहा हूं। उन्होंने कहा मारो, मैंने मारा। हम जानते थे कि हमें पांच बाउंड्री की जरूरत है और हमने कर दिखाया। मैं कड़ी मेहनत कर रहा हूं और खुश हूं कि टीम की जीत में योगदान दे पाया, उम्मीद है आगे हम कुछ और मैच जीतेंगे।
00

)हम सभी जानते हैं कि धोनी क्या कर सकते हैं : रोहित
मुम्बई । मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने चेन्नई सुपर किंग्स से अंतिम गेंद पर महेंद्र सिंह धोनी के चौके से मिली हार के बाद कहा, हमने अंत में अच्छी लड़ाई दिखाई। बल्लेबाजी अच्छी नहीं करने के बाद, मैंने सोचा था कि गेंदबाजों ने हमें पूरे मैच में बनाए रेखा। हालांकि अंत में हम सभी जानते हैं कि धोनी क्या कर सकते हैं।
रोहित ने मैच के बाद कहा,शीर्ष क्रम पर उंगली उठाना गलत होगा। अगर आप शुरुआत में ही दो या तीन विकेट गंवा देते हैं तो मुश्किल हो जाता है। हालांकि अंंत में हम एक अच्छा स्कोर बनाने में कामयाब रहे, जहां पर हम गेंद से दबाव बनाने में कामयाब रहे, लेकिन अंत में धोनी और प्रिटोरियस ने हमसे मैच छीन लिया। जो भी हमारे सामने है, हम अपनी टीम का बचाव करते हैं। पिच अच्छी थी। हम यहां पर ज्यादा रन बना सकते थे लेकिन जैसा मैंने कहा कि हमने शुरुआत में ही कई विकेट गंवा दिए और इसके बाद फ्री होकर खेलना मुश्किल हो ही जाता है।
00

)बटलर का तूफानी शतक, राजस्थान की दिल्ली पर रोमांचक जीत
मुम्बई । जबरदस्त फॉर्म में चल रहे जोस बटलर (116) के लगातार दूसरे शतक से राजस्थान रॉयल्स ने दिल्ली कैपिटल्स को आईपीएल मुकाबले में 15 रन से पीट दिया। राजस्थान ने 20 ओवर में दो विकेट पर 222 रन का मजबूत स्कोर बनाया और दिल्ली की चुनौती को आठ विकेट पर 207 रन पर रोक दिया। राजस्थान की टीम सात मैचों में पांचवीं जीत और 10 अंकों के साथ तालिका में शीर्ष पर पहुंच गयी है। दूसरी तरफ दिल्ली को सात मैचों में चौथी हार का सामना करना पड़ा।
लक्ष्य का पीछा करते हुए दिल्ली को अच्छी शुरुआत की जरूरत थी। डेविड वार्नर और पृथ्वी शॉ ने 4.3 ओवर में दिल्ली को 43 रन की बढिय़ा शुरुआत दी। प्रसिद्ध कृष्णा ने वार्नर को विकेटकीपर संजू सैमसन के हाथों कैच कराया। वार्नर ने 14 गेंदों पर 28 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया। सरफराज खान एक रन बना कर आउट हो गए। सरफराज का शिकार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने किया।
पृथ्वी शॉ 27 गेंदों में पांच चौकों और एक छक्के की मदद से 37 रन बनाकर अश्विन का दूसरा शिकार बने। कप्तान ऋषभ पंत 24 गेंदों में 44 रन बनाकर प्रसिद्ध कृष्णा की गेंद पर देवदत्त पडिकल को कैच थमा बैठे। अक्षर पटेल एक रन बनाकर युजवेंद्र चहल की गेंद पर बोल्ड हुए। शार्दुल ठाकुर 10 रन बनाकर दूसरा रन लेने की कोशिश में रन आउट हुए। इन विकेटों के गिरने के बीच ललित यादव दूसरे छोर पर रन बनाते रहे।
रोवमन पॉवेल ने आने के साथ दो छक्के मारे। दिल्ली को आखिरी दो ओवर में 36 रन की जरूरत थी। कृष्णा ने ललित यादव को 19वें ओवर में पवेलियन की राह दिखा दी। ललित ने 24 गेंदों में तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 37 रन बनाये। कृष्णा ने 19वां ओवर मैडन डाला और ललित का विकेट भी झटका। पॉवेल ने आखिरी ओवर में पहली गेंद पर सीधा छक्का मारा। पॉवेल ने ओबेद मेकॉय की दूसरी गेंद पर भी छक्का जड़ा। तीसरी गेंद भी छक्के के लिए दर्शकों के बीच पहुंच चुकी थी। तीसरी गेंद नो बॉल है या नहीं इसे लेकर विवाद हुआ। कप्तान पंत तो दोनों बल्लेबाजों को बाहर बुलाने का इशारा करने लगे। लेकिन इससे पॉवेल की लय टूट गयी। पॉवेल फिर छक्का नहीं मार पाए और आखिरी गेंद पर आउट हो गए। पॉवेल ने 15 गेंदों में पांच छक्कों की मदद से 36 रन बनाये।
इससे पहले बटलर ने 65 गेंदों में नौ चौकों और नौ छक्कों की मदद से 116 रन बनाये। बटलर इसके साथ ही बेंगलुरु के विराट कोहली के बाद एक सत्र में 3 शतक बनाने वाले दूसरे खिलाड़ी बन गए । विराट का 2016 में 4 शतक बनाने का रिकॉर्ड खतरे में नजर आ रहा है। बटलर ने सलामी बल्लेबाज देवदत्त पडिकल के साथ ओपनिंग साझेदारी में मात्र 92 गेंदों में 155 रन जोड़े। पडिकल ने 35 गेंदों पर 54 रन में सात चौके और दो छक्के लगाए। कप्तान संजू सैमसन ने 19 गेंदों पर 46 रन में पांच चौके और तीन छक्के लगाए।

)तीसरे अम्पायर को नो बॉल चेक करनी चाहिए थी : पंत
मुम्बई । दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान ऋषभ पंत में राजस्थान रॉयल्स के हाथों मिली हार के बाद कहा,मुझे लगता है कि उन्होंने बढिय़ा गेंदबाज़ी की लेकिन पॉवेल ने कहीं ना कहीं मैच को हमारे पक्ष में ला दिया था। तीसरे अंपायर को या किसी को भी उस नो गेंद को चेक करना चाहिए था लेकिन यह मेरे कंट्रोल में नहीं है तो मैं कुछ नहीं कर सकता।
पंत ने मैच के बाद कहा,ऐसा होना काफ़ी दुर्भाग्यपूर्ण है। हम और ज़्यादा बढिय़ा गेंदबाज़ी कर सकते थे लेकिन यह इस खेल का एक हिस्सा है। मैं अपने खिलाडिय़ों से कहूंगा कि ज़्यादा ना सोंचे और अगले मैच की तैयार करें।