November 29, 2023

बिलासपुर से रायपुर के लिए ट्रेन से रवाना हुए राहुल गांधी, यात्रियों संग की चर्चा, खिचवाईं फोटो


 बिलासपुर। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी सोमवार को छत्तीसगढ़ के बिलासपुर शहर में एक सभा को संबोधित करने के बाद ट्रेन से रायपुर के लिए रवाना हुए। बिलासपुर जिले के तखतपुर विकासखंड के परसदा गांव में राज्य सरकार के कार्यक्रम आवास न्याय सम्मेलन में शामिल होने के बाद गांधी बिलासपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे और इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन में सवार हुए। उनके साथ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, पार्टी की प्रदेश प्रभारी कुमारी शैलजा, प्रदेश अध्यक्ष दीपक बैज और अन्य नेता थे।
कांग्रेस द्वारा साझा की गई तस्वीरों में गांधी यात्रियों से बातचीत करते नजर आ रहे हैं। ट्रेन शाम पौने छह बजे रायपुर पहुंचेगी। छत्तीसगढ़ में सत्ताधारी दल कांग्रेस ने राज्य से होकर चलने वाली कई ट्रेनों को रद्द किए जाने के विरोध में इस महीने की शुरुआत में राज्य भर में रेल रोको प्रदर्शन किया था। कांग्रेस नेताओं ने दावा किया था कि पिछले कुछ महीनों में छत्तीसगढ़ में संचालित कई ट्रेनें रद्द कर दी गईं, जिससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।
इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ में एक कार्यक्रम के दौरान सभा में रिमोट कंट्रोल दिखाते हुए कहा कि जब भी उनकी पार्टी इसे दबाती है तब गरीबों और जरूरतमंद लोगों को फायदा होता है, लेकिन जब भाजपा ऐसा करती है तब अडानी को बंदरगाह, रेलवे का ठेका और हवाई अड्डे मिल जाते हैं। राज्य के बिलासपुर जिले के परसदा गांव में ‘आवास न्याय सम्मेलन’ को संबोधित करते हुए उन्होंने यह भी पूछा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जातीय जनगणना से क्यों डरते हैं?
राहुल गांधी ने कहा, ‘‘ आज मैंने रिमोट का बटन दबाया और हजारों करोड़ रुपये छत्तीसगढ़ के लोगों के खाते में चले गए।” उन्होंने कहा कि आज शुरू की गई आवास योजना का लाभ उन लाभार्थियों को भी मिलेगा जो केंद्रीय योजना (प्रधानमंत्री आवास योजना) के तहत सहायता पाने के हकदार थे लेकिन उन्हें नहीं मिला। उन्होंने कहा कि राज्य के बार-बार अनुरोध के बावजूद केंद्र ने पैसा नहीं दिया और अपनी जिम्मेदारियों का

नहीं दिया और अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करने में विफल रहा।
राहुल गांधी ने कहा, ”हम कैमरे के सामने रिमोट कंट्रोल दबाते हैं। भाजपा भी रिमोट कंट्रोल दबाती है लेकिन छुपकर। जब भाजपा रिमोट कंट्रोल दबाती है तब अडानी को मुंबई के हवाई अड्डे और रेलवे के ठेके मिल जाते हैं।” उन्होंने कहा, ”दो रिमोट कंट्रोल हैं। जब हम रिमोट दबाते हैं, तो किसानों को न्याय योजना के माध्यम से उनके खातों में पैसा मिलता है और (छत्तीसगढ़ में) अंग्रेजी माध्यम के स्कूल खुलते हैं, लेकिन जब भाजपा रिमोट दबाती है, तो सार्वजनिक क्षेत्र का निजीकरण हो जाता है और जल-जंगल-जमीन अडानी के पास चली जाती है।”
कांग्रेस नेता ने कहा कि जब उन्होंने संसद में प्रधानमंत्री मोदी के अडानी के साथ संबंधों के बारे में सवाल पूछा तो उनकी लोकसभा सदस्यता रद्द कर दी गई। उन्होंने प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए उन पर जातीय जनगणना से डरने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ”कांग्रेस ने जातीय जनगणना कराई थी जिसमें देश की हर जाति की आबादी का रिकॉर्ड है। भारत सरकार के पास यह रिपोर्ट है लेकिन मोदी जी इसे लोगों के सामने नहीं लाना चाहते हैं।”.