February 29, 2024

बच्चों की तेजी से बढ़ानी है हाइट, तो आज ही बदल दें उनकी डाइट, जानें क्या-क्या खिलाएं


बच्चों की ग्रोथ बढ़ाने के लिए पैरेंट्स हर तरह का ख्याल रखते हैं. बच्चों की हाइट बढ़ाने के लिए उनकी फिजिकल और मेंटल हेल्थ दोनों बेहद जरूरी होती है. हालांकि, बच्चों की लंबाई अनुवांशिक, पोषण और एक्सरसाइज पर निर्भर करता है. अगर बच्चों की डाइट बेहतर रखी जाए तो उनकी लंबाई अच्छी बनाई जा सकती है. कुछ ऐसे फूड्स होते हैं तो बच्चों के शरीर को आवश्यक पोषक तत्व उपलब्ध करवाते हैं और उनकी विकास को बढ़ाने में मदद करते हैं. आइए जानते हैं बच्चों की हाइट बढ़ाने के लिए उन्हें किस तरह का डाइट देना चाहिए…
बच्चों की हाइट बढ़ाने वाली डाइट
दूध और इससे बने प्रोडक्ट्स
दूध और दूध से बने प्रोडक्ट्स बच्चों की हाइट बढ़ाने में सबसे बेहतर माने जाते हैं. दूध और डेयरी प्रोडक्ट्स में प्रोटीन, कैल्शियम और विटामिन-डी भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो बच्चों की ग्रोथ के लिए बेहद जरूरी है. दिन में बच्चों को कम से कम 1-2 गिलास दूध देना चाहिए. इसके अलावा दही, पनीर और दूध के दूसरे प्रोडक्ट्स खाने में देना चाहिए.
हरी सब्जियां
हरी सब्जियों में विटामिन ए, विटामिन सी और कैल्शियम मिलते हैं. ये सभी लंबाई बढ़ाने में मदद करते हैं. इसलिए बच्चों को खाने में सलाद, सूप और दूसरे पोषक तत्व देने चाहिए. इससे उनकी ग्रोथ अच्छी होगी.
फल
बच्चों की लंबाई बढ़ाने के लिए उन्हें खाने में फल भी देना चाहिए. फलों में विटामिन, खनिज और फाइबर की भरपूर मात्रा पाई जाती है. अगर बच्चा हाइट बढऩे वाले दौर में है तो उसे दिन में कम से कम दो बार फल या जूस देना चाहिए.
नट्स और सीड्स
नट्स और सीड्स भी प्रोटीन, हेल्दी फैट और दूसरे  पोषक तत्वों से भरपूर होता है. बच्चों की लंबाई बढ़ाने में ये सभी काफी मददगार होते हैं. इसलिए बच्चों को खाने में स्नैक्स के रूप में नट्स और सीड्स देना चाहिए.
अंडे
अंडा प्रोटीन का अच्छा सोर्स है. बच्चों की हाइट बढ़ाने में यह काफी अच्छा माना जाता है. अंडे में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो लंबाई बढ़ाने में मदद कर सकते हैं. इसलिए बच्चों को दिन में 1-2 अंडा खाने में देना चाहिए.
बच्चों की हाइट बढ़ाने के कुछ अन्य उपाय
1. बच्चों को नियमित तौर पर एक्सरसाइज करवाएं.
2. हाइट बढ़ाने के लिए बच्चों को पर्याप्त नींद लेने दें.
3. बच्चों की ग्रोथ के लिए उन्हें तनाव से दूर रखें.
4. बच्चों को हेल्दी लाइफस्टाइल दें.