June 15, 2024

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के अश्लील वीडियो वायरल मामले में हिरासत में ली गई एमबीए की छात्रा


चंडीगढ़ । पंजाब के मोहाली में एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी में एमबीए की पढ़ाई कर रही एक छात्रा को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। आरोप है कि उसने हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं का नहाते वक्त अश्लील वीडियो बनाया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विवेक सोनी ने स्पष्ट रूप से मीडिया को बताया कि घटना के सामने आने के बाद आत्महत्या के प्रयास की कोई खबर नहीं है। साथ ही, उन्होंने कहा, अभी तक वीडियो के वायरल होने का कोई सबूत नहीं मिला है।
उन्होंने आगे कहा, जांच के अनुसार, आरोपी छात्रा का कहना है कि उसने अपना वीडियो बनाया है, अन्य छात्राओं का कोई वीडियो नहीं बनाया। अब तक कोई सबूत नहीं मिला है। बहुत सारी गलत सूचनाएं और अफवाहें चल रही हैं। हमें आरोपी छात्रा की शीलता का सम्मान करना चाहिए। मामले की जांच कर रहे हैं।
सोनी ने जनता और छात्रों से शांति बनाए रखने और मामले की जांच में पुलिस की मदद करने की अपील की।
रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी छात्रा ने छात्राओं के नहाते हुए वीडियो अपने शिमला में बैठे एक पुरुष मित्र को भेजे, जिसने उन्हें इंटरनेट पर अपलोड कर दिया।
वीडियो के वायरल होते ही, चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के परिसर में भारी हंगामा मच गया और छात्रावास में छात्राओं ने बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया। छात्राओं ने हमें न्याय चाहिए के नारे लगाए।
विरोध के दौरान पुलिस को छात्रों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा।
आप प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त की और लोगों से संयम से काम लेने का आग्रह किया।
केजरीवाल ने एक ट्वीट में कहा, चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में एक लडक़ी ने कई छात्राओं के आपत्तिजनक वीडियो रिकॉर्ड कर वायरल किए हैं। ये बेहद संगीन और शर्मनाक है। इसमें शामिल सभी दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी। पीडि़त बेटियां हिम्मत रखें। हम सब आपके साथ हैं। सभी संयम से काम लें।
छात्राओं से शांत रहने का अनुरोध करते हुए, राज्य के स्कूल शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस ने कहा, किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। यह एक बहुत ही संवेदनशील मामला है और हमारी बहनों और बेटियों की गरिमा से संबंधित है। मीडिया सहित हम सभी को बहुत सतर्क रहना चाहिए, यह एक समाज के रूप में हमारी भी परीक्षा है।
पंजाब राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष मनीषा गुलाटी विश्वविद्यालय पहुंचीं, और उन्होंने कथित वीडियो और एमएमएस कांड में आत्महत्या के प्रयास की अफवाहों पर सफाई दी।
उन्होंने कहा, जांच चल रही है और कानून अपना काम करेगा। उन्होंने आयोग से सभी विश्वविद्यालयों का निरीक्षण करने को कहा ताकि ऐसी घटना दोबारा न हो।
चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के चांसलर सतनाम सिंह संधू ने कहा, पुलिस पूरी घटना की जांच कर रही है और हम उनकी मदद कर रहे हैं।