July 24, 2024

गौरीकुंड में सर्च अभियान में बाधा बन रहा मौसम


रुद्रप्रयाग। गौरीकुंड में हुए भूस्खलन से लापता लोगों का पता लगाने के लिए तीसरे दिन भी 5 टीमों द्वारा सर्च एंड रेस्क्यू अभियान जारी रहा। हालांकि केदारनाथ और गौरीकुंड में बारिश के चलते रेस्क्यू का कार्य रुक-रुक कर होता रहा। जिस तेजी से कार्य होना वह खराब मौसम और मंदाकिनी के जल स्तर के बढ़ने के कारण प्रभावित रहा। वहीं रुद्रप्रयाग बाईपास से नरकोटा एवं धारी देवी से श्रीनगर डैम तक भी सर्च एवं रेस्क्यू अभियान चलाया गया किंतु देर सांय तक कुछ भी पता नहीं लग पाया है। बीते गुरुवार को गौरीकुंड में रात्रि को हुई भूस्खलन की घटना के बाद 23 लोग लापता बताए गए। 3 लोगों के लापता होने की सूचना उनके परिजनों द्वारा प्रशासन को दी गई। वहीं तीन शव बरामद कर लिए गए थे किंतु 20 लोगों का अभी भी कोई पता नहीं लग पाया है। प्रशासन ने जिन तीन शवों की शिनाख्त की है उनमें तीनों नेपाली मूल के हैं। लापता अन्य बीस लोगों की खोजबीन का काम जारी है। रविवार को भी एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, आईटीबीपी, डीडीआरफ, वाईएमएफ, पुलिस, फायर सर्विस एवं जिला प्रशासन की टीमों ने खोजबीन का काम जारी रखा। एसडीएम ऊखीमठ जितेंद्र वर्मा ने बताया कि शिनाख्त होने के बाद तीनों शवों का बीती देर रात पोस्टमार्टम करने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है। जिनका अंतिम संस्कार भी कर लिया गया।
इन लोगों के शवों की हुई शिनाख्त:    
-देवी बहादुर उम्र 45 पुत्र प्रदीप ग्राम मामन नेपाल
-टेक बहादुर पुत्र धनसुर ग्राम मामन नेपाल
-प्रकाश टम्टा पुत्र रघु ग्राम मामन नेपाल