February 5, 2023

शेयर बाजार आज बिकवाली से औंधे मुंह गिरा

)शेयर बाजार आज बिकवाली से औंधे मुंह गिरा
मुंबई । चंद दिनों की राहत के बाद शेयर बाजार में फिर से बिकवाली का दौर लौट आया है। लगातार गिरावट के बाद इस सप्ताह बाजार को थोड़ी राहत मिली थी, लेकिन आज गुरुवार को शुरुआती कारोबार में ही बाजार भरभरा गया। बीएसई सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी शुरुआती कारोबार में ही 2 फीसदी से ज्यादा नुकसान में चले गए।
कमजोर वैश्विक संकेतों के बीच भारतीय शेयर बाजार सप्ताह के चौथे दिन गुरुवार को खुलते ही औंधे मुंह गिर गया। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स सूचकांक 900 अंक या 1.66 फीसदी टूटकर 53,308 के स्तर पर खुला, जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी सूचकांक ने 269 अंक या 1.66 फीसदी की गिरावट के साथ एक बार फिर 16000 के नीचे पहुंचकर 15,971 के स्तर पर कारोबार की शुरुआत की। फिलहाल, सेंसेक्स 1027 अंक की गिरावट के साथ कारोबार कर रहा है।
बाजार खुलने के साथ ही लगभग 370 शेयरों में तेजी आई है, 1629 शेयरों में गिरावट आई है और 73 शेयरों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। इससे पहले बीते कारोबारी सत्र बुधवार को शेयर बाजार के दोनों सूचकांक बढ़त के साथ खुले लेकिन दिनभर के उतार-चढ़ाव भरे कारोबार के बाद अंत में गिरावट के साथ लाल निशान पर बंद हुए। बीएसई का सेंसेक्स 110 अंक टूटकर 54,208 के स्तर पर बंद हुआ था, जबकि एनएसई का निफ्टी सूचकांक 19 अंक फिसलकर 16,240 के स्तर पर बंद हुआ था।
00)एलपीजी सिलेंडर के फिर बढ़े दाम, कामर्शियल सिलेंडर भी महंगा
नई दिल्ली । मई में एलपीजी सिलेंडर के उपभोक्ताओं को दूसरी बार झटका लगा है। घरेलू सिलेंडर एक बार फिर महंगा हुआ है। वहीं, कामर्शियल सिलेंडर के दाम भी आज यानी 19 मई 2022 से बढ़ गए हैं। इस महीने दूसरी बार घरेलू सिलेंडर के दाम बढ़े है। पहली बार 7 मई को 50 रुपये बढ़ाए गए थे और आज भी घरेलू एलपीजी गैस सिलेंडर के दाम में वृद्धि की गई है। पेट्रोल-डीजल के साथ-साथ खाने-पीने की चीजें महंगी होने से त्रस्त जनता एलपीजी के बढ़ते दाम से भी परेशान है। अभी बीते 7 मई को घरेलू एलपीजी सिलेंडर 50 रुपये और महंगा हो गया। इससे देश के अधिकतर शहरों में एलपीजी सिलेंडर का भाव 1000 रुपये के पार पहुंच गया, लेकिन दिल्ली इसमें पीछे रह गई थी। आज घरेलू एलपीजी सिलेंडर के रेट में 3 रुपये 50 पैसे की बढ़ोतरी हुई तो यह फासला मिट गया। अब पूरे देश में घरेलू एलपीजी सिलेंडर 1000 के पार है। पिछले एक साल में दिल्ली में घरेलू एलपीजी सिलेंडर 809 रुपये से 1003 रुपये पर पहुंच गया। आज से दिल्ली  व मुंबई में 14.2 किलो वाला घरेलू एलपीजी सिलेंडर 1003 रुपये और कोलकाता में 1029 व चेन्न्ई में 1018.5 में मिलेगा।
कामर्शियल सिलेंडर भी महंगा
सात मई को एलपीजी के रेट में बदलाव की वजह से घरेलू सिलेंडर जहां 50 रुपये महंगा हुआ तो वहीं, 19 किलो वाला कामर्शियल सिलेंडर करीब 10 रुपये सस्ता हुआ। आज इसके रेट में 8 रुपये की वृद्धि की गई है। अब 19 किलो वाला सिलेंडर दिल्ली में 2354,   कोलकाता में 2454, मुंबई में 2306 और चेन्नई में 2507  का बिक रहा है।
एक मई को इसमें करीब 100 रुपये का इजाफा हुआ था। वहीं, मार्च को 19 किलो वाले एलपीजी सिलेंडर की कीमत दिल्ली में केवल 2012 रुपये थी। 1 अप्रैल को यह 2253 और 1 मई को बढक़र 2355 रुपये पर पहुंच गया। पिछले एक साल में कामर्शियल सिलेंडर के रेट में 750 रुपये की वृद्धि हुई है।
00

)टाटा के इस स्टॉक से हुई छप्परफाड़ कमाई, दो साल में शेयर ने दिया 700 प्रतिशत का रिटर्न
नई दिल्ली । कोरोना महामारी की वजह से भारतीय शेयर बाजार बिकावली का शिकार हो गया था। लेकिन जैसे-जैसे कोरोना पर नियंत्रण पाया गया ठीक वैसे ही स्थितियां और बेहतर होने लगी। इस दौरान कई शेयरों ने तगड़ा मुनाफा दिया है। उसमें टाटा पावर एक है। पोस्ट कोविड के समय इस काल खंड में टाटा पावर के शेयर का भाव 30 रुपये से बढक़र 237.50 रुपये के लेवल पर पहुंच गया। इस स्टॉक ने रूस और यूक्रेन युद्ध की वजह से बिकवाली के माहौल में भी शानदार रिटर्न दिया है।
क्या रहा है टाटा पावर के शेयर का इतिहास?
टाटा पावर 52 सप्ताह में आल टाइम हाई पर 6 अप्रैल 2022 को पहुंचा था। तब कंपनी के शेयर का भाव 298.05 रुपये प्रति शेयर था। यानी पिछ्ले डेढ़ महीने के दौरान यह स्टॉक 20प्रतिशत नीचे आ गया। इस साल अभी तक इस कंपनी के शेयर की कीमत में 6.50प्रतिशत का इजाफा हुआ है। वहीं, बीते 6 महीने की बात करें तो इस स्टॉक से महज 4.50प्रतिशत रिटर्न ही मिला है। लेकिन अगर हम एक साल पीछे जाएं तो कंपनी के शेयर कीमत 104 रुपये से बढक़र 237.50 रुपये के लेवल पर पहुंच गया है। यानी करीब 130प्रतिशत की उछाल देखने को मिली है।
एनएसई में 3 अप्रैल 2020 को टाटा पावर के शेयर की कीमत 30 रुपये थी। लेकिन दो साल बीतने के बाद कंपनी के शेयर का भाव बढक़र 237.50 रुपये के लेवल पर हैं।