July 24, 2024

बेहतर नींद के लिए डाइट में शामिल करें ये 5 खाद्य पदार्थ


मेलाटोनिन एक आवश्यक हार्मोन है और यह सर्कैडियन लय को चलाने में सहायक है।सर्कैडियन लय मानव शरीर की आंतरिक घड़ी होती है, जो रोशनी के संपर्क के आधार पर सोने-जागने के चक्र को नियंत्रित करती है।हालांकि, रात में रोशनी के संपर्क में रहने से मेलाटोनिन उत्पादन प्रभावित होता है, जिससे नींद आने में दिक्कत हो सकती है।आइए आज हम आपको कुछ खाद्य पदार्थों के बारे में बताते हैं, जो मेलाटोनिन को बढ़ावा दे सकते हैं।
कैमोमाइल चाय
सोने से पहले एक कप कैमोमाइल चाय का सेवन मेलाटोनिन के उत्पादन को बढ़ाने में मदद कर सकता है।इसका कारण है कि इसमें मौजूद एपिजेनिन एक प्राकृतिक ट्रैंक्विलाइजर के रूप में कार्य करता है।यह शरीर में मेलाटोनिन हार्मोन के स्राव को भी बढ़ाता है, जो चिंता और तनाव के लक्षणों को कम कर सकते हैं और नींद न आने की समस्या का इलाज कर सकते हैं।यहां जानिए कैमोमाइल चाय के सेवन से मिलने वाले अन्य फायदे।
जायफल
अगर आप किसी भी तरह से जायफल को अपनी डाइट में शामिल करते हैं तो इससे भी नींद में सुधार हो सकता है।
एक शोध के मुताबिक, जायफल में एक खास तत्व होता है, जो मेलाटोनिन का उत्पादन बढ़ाकर नींद में सुधार करने का काम कर सकता है।यहां जानिए जायफल के सेवन से मिलने वाले अन्य स्वास्थ्य लाभ।
इलायची
चाय या खाने में इलायची का इस्तेमाल भी आपकी नींद को सुधारने में मदद कर सकता है।इसका कारण है कि इलायची शरीर को आराम देने वाले गुणों से समृद्ध होती है, जो मेलाटोनिन को बढ़ावा देकर बेहतर नींद दिला सकते हैं।इसके अतिरिक्त इलायची पाचन एंजाइम को उत्तेजित करके पाचन क्रिया को दुरुस्त रखने में मदद कर सकती है।यहां जानिए

अश्वगंधा के सेवन से मिलने वाले अन्य स्वास्थ्य लाभ।
मशरूम
मशरूम में मौजूद ट्रिप्टोफैन नामक अमीनो एसिड मेलाटोनिन को बढ़ावा दे सकता है और नींद न आने की समस्या को दूर कर सकता है।लाभ के लिए इस पौष्टिक सब्जी को अपनी डाइट में शामिल करें, खासकर शाम के नाश्ते या रात के खाने में ताकि आपको रात में अच्छी नींद आ सके।भारत में खाने योग्य ये 5 मशरूम मिलते हैं। ये कई पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, इसलिए इनका सेवन जरूर करें।