April 21, 2024

भाषा वंश वृक्ष से शोध प्रवृति का जन्म: पन्त


बागेश्वर गरुड़ ।भाषा वंश वृक्ष प्रतियोगिता के माध्यम से राजकीय जूनियर हाईस्कूल रौल्याना के छात्र – छात्राओं ने वंश वृक्ष प्रतियोगिता में भाग लिया ।
कार्यशाला का शुभारंभ करते हुए प्रधानाध्यापक नीरज पन्त ने बताया कि वंश वृक्ष ज्ञान का मूल्यवान भंडार के साथ वंशावली अनुसंधान का दस्तावेज है जो परिवर्तन की दिशा और भाषाओं के बीच संबंधों को दर्शाता है।
भाषा अध्यापक भाष्कर पन्त ने छात्रों से वंश आरेख तैयार करवाया और समझाया कि आरेख व्यक्ति के वंश का एक दृश्य प्रतिनिधित्व है, जो सामान्य पूर्वजों के साथ हमारे संबंधों का पता लगाता है भाषा का अध्ययन सभी विषयों के द्वार खोलता है।
विज्ञान शिक्षक दीपक पाण्डेय ने बताया कि मानव वंशावली विश्लेषण में प्रयुक्त चिन्हो की सहायता से आनुवंशिक गुणों, रोग आदि का ज्ञान प्राप्त होता है।
प्रतियोगिता में प्रतिभावान छात्र-छात्रा मीरा, हरेन्द्र, हेमा, हिमानी, बबली, अंजलि की सर्वश्रेष्ठ रचना को पुरस्कृत किया गया।
विद्यालय प्रबंधन समिति अध्यक्ष मदन गिरी ने सभी के प्रयासों को सराहा।
इस अवसर पर नीरज पन्त दीपक पाण्डेय भाष्कर पन्त मदन गिरी सोनू गोस्वामी विजय गिरी हिमानी मेहरा हेमा दिव्या सोना गंगा पुष्पा देवी आदि उपस्थित थे।